Bijli Bill Check » बिजली बिल » मीटर में यूनिट कैसे देखते हैं

मीटर में यूनिट कैसे देखते हैं

मीटर में यूनिट कैसे देखते हैं meter me unit kaise dekhe : नमस्कार दोस्तों स्वागत है, हमारे वेबसाइट पर आज की पोस्ट में हम बात करेंगे कि, मीटर में यूनिट कैसे देखें ? जैसा कि, आप लोग जानते हैं कि, अगर आपने घर में बिजली का कनेक्शन लिया है, तो आपके पास मीटर होगा और आपको बिजली का बिल कितना देना है। इस बात की गणना मीटर में उठे हुए Unit के माध्यम से की जाती है।

यानी आपके मीटर में जितना बिजली आपने खर्च किया है, उसकी अनुमानित राशि वहां पर दिखाई पड़ेगी। उसके आधार पर ही आपको अपने बिजली बिल का भुगतान करना होगा। ऐसे में अगर आप भी मीटर में यूनिट कैसे देखते है, इसकी प्रक्रिया के बारे में नहीं जानते हैं, तो कोई बात नहीं है, आज के इस आर्टिकल के अंदर मैं आपको यह प्रक्रिया बता रहा हूँ।

आप किस प्रकार मीटर से अपने यूनिट का पता लगा सकते हैं। बस इसके लिए आपको हमारा यह आर्टिकल पूरा पढ़ना होगा। ताकि आपको बीच में कोई भी समस्या नहीं आए। तो चलिए आज के इस बेहतरीन आर्टिकल की शुरुआत करते हैं और आपको बताते हैं कि, आप किस प्रकार मीटर में यूनिट कैसे देखते है ?

meter-me-unit-kaise-dekhe

मीटर कितने प्रकार के होते हैं ?

मीटर मुख्य तौर पर तीन प्रकार के होते हैं और हर मीटर में बिजली यूनिट देखने का तरीका अलग है। इसीलिए हमने आपको नीचे तीनों प्रकार के मीटर का विवरण दिया है। आप हर मीटर का विवरण पढ़कर उसके अंदर यूनिट देखने का तरीके का पता लगा सकते हैं। क्योंकि टेक्नोलॉजी के साथ मीटर भी बदले हैं और उनके अंदर बिजली बिल देखने का तरीका भी बदल गया है। यह मीटर कुछ इस प्रकार है –

1. इलेक्‍ट्रोमैकानिकल बिजली मीटर

इस प्रकार के मीटर आज से 15 से 20 साल पहले ज्यादा करके इस्तेमाल किया जाता था। आज के तारीख में इसका इस्तेमाल बहुत ही कम हो गया है। पहले के समय ग्रामीण क्षेत्र जहां पर बिजली उपलब्ध थी वहां पर इसका इस्तेमाल होता था, लेकिन आज ग्रामीण क्षेत्र में भी चीजें काफी तेजी के साथ बदल रही है और ऐसे में इस मीटर का इस्तेमाल बहुत ही कम हो गया है।

इस प्रकार के मीटर में एक काटा होता है, जो चुंबकीय प्रक्रिया के द्वारा हिलता और उल्टा है। यानी जितना भी आप घर में बिजली का इस्तेमाल करें उसके आधार पर यहां पर गणना हो जाती है। क्या आपने कितना बिजली इस्तेमाल अब तक किया है।

2. इलेक्ट्रॉनिक डिजिटल मीटर

इलेक्ट्रॉनिक डिजिटल मीटर का इस्तेमाल शहरी क्षेत्र में सबसे अधिक होता है। इस प्रकार के मीटर में एक एलईडी डिस्प्ले होती है, जिसके माध्यम से आपने कितना बिजली खर्च किया है। उसका डाटा यहां पर आपको दिखाई पड़ेगा।

3. स्मार्ट इलेक्ट्रॉनिक मीटर

इस प्रकार का मीटर भारत के बड़े शहर चेन्नई कोलकाता दिल्ली मुंबई महानगरों में इस्तेमाल किया जाता है। सरकार के मीटर में बिजली का आपने कितना इस्तेमाल किया है, उसका सही डांटा यहां पर आपको दिखाई पड़ेगा और ऐसे मीटर बड़े-बड़े व्यवसायिक संस्थानों में भी इस्तेमाल किए जाते हैं।

मीटर में हमें बिजली की यूनिट क्यों चेक करनी चाहिए ?

मीटर में हमें अपने बिजली का यूनिट जरूर चेक करना चाहिए। इसकी प्रमुख वजह है, कि आपको समझ में आएगा कि आपका बिजली बिल कितना आया है और पहले आपने कितना बिजली बिल चुकाया था। उसके बाद जो नया बिजली बिल आया है, वह कितने यूनिट का आया है, इसलिए हमें मीटर में बिजली का यूनिट देखना आवश्यक है।

हम सभी का अपने घर में लगे हुये Bijli Meter को हर महीने चेक करना चाहिये। क्‍योंकि मीटर में यूनिट चेक करने और फिर बिजली बिल का मिलान करने पर हमें पता चल जाता है, कि आपको जो बिल दिया जा रहा है, वह सही है कि नहीं।

मीटर में संकेतिक चिन्ह का क्या मतलब होता है ?

मीटर के अंदर बहुत से सांकेतिक चिन्ह होते हैं। यदि आपको इनका पता नहीं है, तो आप कभी भी मीटर को देखकर बिजली बिल का पता नहीं लगा सकते। इसीलिए हमने इन संकेतों का विवरण नीचे दिया है, यह कुछ इस प्रकार है –

  • 1000 Watt = 1 यूनिट।
  •  KWh इसके डाटा के आधार पर ही आपका बिजली बिल बनाया जाता है।
  •  KVA =  Apparent Power Unit कहते हैं।
  •  KVAH= इसका मतलब Apparent एनर्जी।
  •  V = इसके माध्यम से घर में इस्तेमाल होने वाले वोल्टेज के बारे में जानकारी मिलती है।
  •  A = इसके माध्यम से घर में करंट आप कितना इस्तेमाल कर रहे हैं उसकी डाटा है की जानकारी इस से प्राप्त होती है।
  •  MD = इसके द्वारा इस बात की जानकारी मिलती है कि आपके घर 1 घंटे में कितनी बिजली खर्च हुई है उसके डाटा को या दर्शाता है।
  • PF = यह AC करेंट के Real Power और Apparent Power अनुपात होता है।

मीटर में यूनिट कैसे देखें ?

  • आप सबसे पहले मीटर में लगे हुये Push बटन दबाना होगा। यह बटन आप तब तक दब आएंगे जब के जब तक आपके सामने डेटा का विवरण नहीं आ जाता है।
  • जब डाटा के रूप में संख्‍या शो होगी तो उसके  KWh जरूर लिखा हुआ आएगा। इसके आधार पर ही आपकी पिछली और वर्तमान मीटर की रीडिंग कितनी है उसका डाटा दिखाई पड़ेगा।
  • इसके आधार पर ही आप अपने बिजली की खपत की गणना करेंगे।
  • अगर आपके मीटर में पुश बटन नहीं है तो चिंता की कोई बात नहीं है। आप अपने मीटर के डिस्प्ले पर ध्यान रखें। जहां पर किलो वाट का एक आपको संकेतिक चिन्ह दिखाई पड़ेगा। उसके आधार पर ही आप अपने बिजली की खपत का डाटा लिख ले।
  • अगर किसी कारण से बिजली कट गई है तभी आप अपने मीटर में बिजली चेक कर सकते हैं। इसके लिए आपको बिजली मीटर में दिया हुआ पुश बटन दबाएं इसके माध्यम से आपके बिजली की खपत कितनी है, उसका डाटा आ जाएगा।
  • क्योंकि प्रत्येक बिजली के मीटर में एक बैटरी लगी होती है और बैटरी के माध्यम से भी बिजली मीटर संचालित होते हैं। जब बिजली नहीं होती है तब।

सारांश (Conclusion)

दोस्तों आज के इस आर्टिकल के अंदर मैंने आपको मीटर में यूनिट कैसे देखते है, इसके तरीके बताएं। आप चाहे उस तरीके का इस्तेमाल करके अपने कार्य को कर सकते हैं। यदि आपको मेरा यह आर्टिकल पसंद आया है, तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें और इसे अपनी सोशल मीडिया साइट पर भी शेयर करना ना भूले।

यदि आपको बिजली बिल चेक करने में कोई भी समस्या आ रही है, तो आप मुझे कमेंट करके पूछ सकते हैं, मैं आपके कॉमेंट का जल्द से जल्द रिप्लाई करूंगा। बिजली बिल से सम्बंधित ऐसे ही नई – नई जानकारी पाने के लिए गूगल सर्च बॉक्स में सर्च कीजिये – bijlibillcheck.com धन्यवाद !

गांव का बिल कैसे चेक करें ऑनलाइन

बिजली के मीटर को कैसे धीमा करते हैं

पुराना बिजली बिल कैसे निकाले ऑनलाइन

घरेलू बिजली बिल चेक कैसे करें

सामान्य प्रश्न (FAQ)

मीटर में यूनिट नियमित रूप से चेक क्यों करना चाहिए?

आप अपने मीटर में यूनिट नियमित रूप से चेक करें। इसकी प्रमुख वजह है कि आपको समझ में आएगा कि प्रतिदिन कितना बिजली आप खर्च कर रहे हैं। उससे महीने में आप अपने बिजली बिल की गणना आसानी से कर सकते हैं कि आपने प्रतिदिन कितना का बिजली खर्च किया है।

हमें प्रति यूनिट कितना बिजली बिल भुगतान करना चाहिए?

भारत में राज्यों के मुताबिक बिजली की यूनिट अलग-अलग है। इसलिए आपको कितना यूनिट बिजली का बिल भुगतान करना पड़ेगा। कुल मिलाकर इस बात पर निर्भर करता है कि आप किस राज्य में रहते हैं और आपने किस कंपनी से विद्युत का कनेक्शन दिया।

मीटर खराब होने पर क्या करें?

मीटर खराब होने पर इस बात की सूचना आप अपने नजदीकी विद्युत विभाग को दे दे। ताकि वहां से लाइन में आकर आपके मीटर की जांच कर सके और आपने मीटर खराब होने से पहले कितने यूनिट का बिजली खर्च किया है, उसका भी डाटा आपको आसानी से मिल सके। ताकि जब आपका बिजली भुगतान आए तो आपको आसानी हो समझने में कि मीटर बंद होने से पहले आपने कितना बिजली खर्च किया था।

शेयर करें :

हेलो दोस्तों, मैं कंप्यूटर में ऑनलाइन कार्य करता हूँ। जिसमें इलेक्ट्रिसिटी से सम्बंधित कार्य भी शामिल है। इसलिए इस वेबसाइट के द्वारा बिजली बिल से सम्बंधित जानकारी भी प्रदान करता हु। ताकि बिजली उपभोक्ता घर बैठे ऑनलाइन सर्विस का लाभ ले सकें।

बिजली बिल से सम्बंधित समस्या यहाँ लिखें