Bijli Bill Check » बिजली बिल » बिजली बिल ज्यादा क्यों आता है ये है असली कारण

बिजली बिल ज्यादा क्यों आता है ये है असली कारण

बिजली बिल ज्यादा क्यों आता है : यहाँ हम जानेंगे कि बिजली बिल ज्यादा आने के क्या कारण है और बिजली बिल ज्यादा आने पर क्या करे ? बहुत लोगों के साथ ऐसा होता है कि उनका इलेक्ट्रिसिटी बिल सामान्य से ज्यादा आता है। जितना बिजली खर्च करते है उनसे ज्यादा बिल मिलता है। इससे मध्यम वर्ग के परिवारों का बजट बिगड़ सकता है। क्योंकि उनके कमाई का एक बड़ा हिस्सा बिल पटाने में चला जाता है। अगर आपके साथ भी ऐसे हो रहा है तब यहाँ बताये गए जानकारी को ध्यान से पढ़ें। क्योंकि इनके कई कारण हो सकते है।

जब भी हमें ज्यादा बिजली का बिल मिलता है, तो ऐसा लगता है कि बिजली विभाग ने हमें बढ़ाकर बिल भेजा है। हाँ ये सही भी हो सकता है लेकिन इसके अन्य कई कारण भी होते है जिसपर हम ध्यान नहीं देते। अगर आप एक बिजली उपभोक्ता है तब इसे ध्यान से जरूर पढ़िए। चलिए अब जानते है कि बिजली बिल ज्यादा आने के क्या कारण हो सकते है।

why-electricity-bill-comes-higher

बिजली बिल ज्यादा आने के मुख्य दो कारण

आपका bijli bill ज्यादा आने के मुख्य दो कारण हो सकते है –

  1. बिजली मीटर में खराबी
  2. उपयोग किये जा रहे उपकरण द्वारा ज्यादा बिजली खपत

सबसे पहले हमें इन कारणों का पता लगाना होगा। ये हम खुद से ही कर सकते है। इसके लिए बिजली विभाग के पास जाने की जरुरत नहीं है। चलिए हम जानते है कि इन दोनों कारणों का पता कैसे लगाएं।

बिजली मीटर में खराबी को चेक कैसे करें ?

सबसे पहले आपको ये जानना आवश्यक है कि आपके घर में लगे मीटर सही है या नहीं। क्योंकि कई मीटर खराबी के वजह से ज्यादा चलने लगते है। इसे चेक करने के लिए आपको किसी उपकरण का सहारा लेना होगा। देखिये 1000 वॉट के किसी बिजली उपकरण को एक घंटे तक चलाने पर 1 यूनिट बिजली खपत होती है। नीचे हमने टेबल में उपकरण का नाम और उसकी खपत की जानकारी दिया है। आप इसे चेक करके एक हजार वॉट की गणना कर लें –

बिजली उपकरण का नाम वॉट
एयर कंडीशनर (1.5 टन)2650
पंखा75
वॉशिंग मशीन400
टीवी100
मिक्सर500
फ्रिज (165 लीटर)150
प्रेस750
ट्यूब लाइट40
सीएफएल15
कूलर200
माइक्रोवेव ओवन1200
कम्प्यूटर200
मोबाइल चार्जर7
पानी की मोटर (1 एचपी)740

ऊपर टेबल में हमने उपकरण और उसके वॉट की जानकारी दे दिया है। आप इसमें से 1000 वॉट के उपकरण को एक घंटे तक चलाइये। इसके बाद अपने घर में लगे बिजली मीटर का रीडिंग लीजिये। अगर उसमे 1 यूनिट से ज्यादा बता रहा है तब मीटर तेज चल रहा है। यानि मीटर में खराबी है।

उपयोग किये जा रहे उपकरण को चेक कैसे करें ?

अगर मीटर सही है तब आपको अपने घर में लगे बिजली उपकरण को चेक करना चाहिए। उसके खराबी से भी ज्यादा बिजली खपत होती है। प्रत्येक बिजली उपकरण में वॉट लिखा होता है। अगर वे उपकरण निर्धारित वॉट से ज्यादा बिजली खपत कर रही है तब उसमे खराबी हो सकती है।

पुराने पंखे को चेक करें – गर्मियों के मौसम में घर के पंखे दिनभर चलते रहे है। हम सभी जब पंखें ख़राब हो जाए तभी उसे सुधार या रिपेरिंग करवाते है। लेकिन पुराने पंखों की ऑयलिंग और बियरिंग कराये तब ये फ्री चलेंगे और इससे कम बिजली बिल खपत होगी। यानि आपके घर में लगे पंखें बहुत पुराने है तब भी बिजली बिल ज्यादा आ सकता है।

मानलो आपके घर में 5 पंखे लगे हुए है और से 5 से 7 साल पुराने है तब ये सामान्य से ज्यादा बिजली की खपत करेगा। यानि सामान्य स्थिति में 75 वॉट का पंखा जितनी बिजली की खपत करता है, ये पुराने होने की वजह से 10 यूनिट तक से ज्यादा बिजली की खपत करेगा। इसलिए सभी पुराने पंखों का ग्रीसिंग और ऑइलिंग जरूर करवाएं।

पुरानी ट्यूब लाइट ज्यादा बिजली खपत करती है – ट्यूब लाइट 40 वॉट की होती है लेकिन अगर ये ज्यादा पुरानी हो गई है तब इसकी चोक सामान्य से ज्यादा बिजली खपत करने लगती है। इसलिए बिजली खपत कम करने के लिए इसके स्थान पर सीएफएल बल्ब का उपयोग करें। क्योंकि अगर आप 10 वॉट का सीएफएल लगाते है तब एक ट्यूब लाइट के स्थान पर उतनी ही बिजली खपत में 4 सीएफएल लगाया जा सकता है।

एसी का सर्विसिंग करवाते रहें – अगर आपके घर में AC लगा हुआ है तब आपको और ज्यादा ध्यान देने की जरुरत है। इसे खरीदते समय स्टार रेटिंग को देखकर खरीदें। कई लोग पैसे बचाने के चक्कर में 1 स्टार या 3 स्टार का AC ले लेते है। इससे बिजली की खपत बढ़ती है क्योंकि कम स्टार वाले ac ज्यादा बिजली खपत करती है। अगर आपने 1.5 टन का एसी अपने घर में लगवाया है और इसे औसतन 8 चलाते है तब ये 7-9 यूनिट बिजली खपत करती है। वही अगर आपने इसकी सर्विसिंग नहीं कराई है तब ये 10-11 यूनिट बिजली खपत करेगा। इससे आपका बिजली का बिल ज्यादा आता है।

बिजली बिल ज्यादा आने पर क्या करे ?

अगर आपका बिजली मीटर ख़राब है यानि ज्यादा तेज चल रहा है तब ऑफिस में आवेदन देकर नई मीटर लगवाएं। अगर आपके बिजली उपकरण में कोई परेशानी है तब इसे भी सुधार करें। लेकिन ऊपर बताई गई दोनों परेशानी नहीं फिर भी ज्यादा बिजली का बिल आ रहा है तब ये रीडिंग की समस्या है। यानि जो आपके घर रीडिंग करने आता है वो सही रिपोर्ट विभाग को नहीं दे रहा है। वो बिना मीटर देखें हो औसतन रीडिंग का रिपोर्ट दे रहा है।

ऐसे स्थिति में बिजली कंपनी के टोल फ्री नंबर 1912 पर शिकायत करें। उन्हें अपनी समस्या बताएं और साथ में वास्तविक रीडिंग भी उन्हें बताएं। इसके बाद आपका कम्प्लेन दर्ज किया जायेगा और आपके बताये अनुसार सही रीडिंग का बिजली बिल आपको फिर से जारी किया जायेगा। इसलिए बिजली बिल ज्यादा आने पर शिकायत नंबर पर कम्प्लेन कीजिये।

इसे पढ़ें – बिजली बिल की शिकायत कहां करें और कैसे करें

बिजली बिल ज्यादा क्यों आता है और बिजली बिल ज्यादा आने पर क्या करे इसकी जानकारी सरल भाषा में यहाँ बताया गया है। हमें उम्मीद है कि ये जानकारी बिजली उपभोक्ताओं के लिए काफी उपयोगी साबित होगा। अगर इलेक्ट्रिसिटी बिल से सम्बंधित आपके मन में कोई अन्य सवाल हो या कोई समस्या हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में हमें बता सकते हो। हम बहुत जल्दी आपको रिप्लाई करेंगे।

Bijli bill ज्यादा आने के कारण क्या है, इसकी जानकारी सभी बिजली उपभोक्ताओं के लिए बहुत ही उपयोगी है। इसलिए इस जानकारी को उन्हें शेयर जरूर करें। इससे अन्य लोगों को भी फायदा होगा। इस वेबसाइट पर बिजली बिल से सम्बंधित ऐसे ही उपयोगी जानकारी प्रदान किया जाता है। अगर आप नई नई जानकारी पाना चाहते हो तो गूगल पर www.bijlibillcheck.com टाइप करके सर्च करें। धन्यवाद !

शेयर करें :

हेलो दोस्तों, मैं कंप्यूटर में ऑनलाइन कार्य करता हूँ। जिसमें इलेक्ट्रिसिटी से सम्बंधित कार्य भी शामिल है। इसलिए इस वेबसाइट के द्वारा बिजली बिल से सम्बंधित जानकारी भी प्रदान करता हु। ताकि बिजली उपभोक्ता घर बैठे ऑनलाइन सर्विस का लाभ ले सकें।

5 thoughts on “बिजली बिल ज्यादा क्यों आता है ये है असली कारण”

  1. जब से स्मार्ट मीटर लगा है तब से बिजली का बिल अधिक आ रहा है जबकि सी एल एफ बल्ब और गर्मी में एक या दो पंखा चलाते हैं और घर में मिमबर भी कम है, कृपया स्मार्ट मीटर हटा कर पहले जैसा मीटर लगवा दें।आभारी हूंगा।

    Reply

बिजली बिल से सम्बंधित समस्या यहाँ लिखें